Media

Press Release
क्रिकेट का जुनून था, मजबूरियों ने खेलने नहीं दिया, अब फैक्ट्री वर्कर्स को बना रहे क्रिकेटर
जयपुर। जो अपनी मजबूरी को ही पक्का इरादा बना ले तो वही दुनिया में सक्सस इंसान बन सकता है। ऐसे ही एक शख्स ने कर दिखाया। छोटी उम्र में परिवार की जिम्मेदारी संभालकर खुद को भले ही खुद को क्रिकेट से दूर कर दिया, लेकिन अपने वर्कर्स को कभी उनकी तरह अपने सपने को मारना नहीं पड़े, यही सोचकर उनके लिए एक क्रिकेट एकेडमी ही स्थापित कर डाली।   अपनी दीवानगी और वर्कर्स के जुनून के चलते ऐसा करने वाले शख्स जयपुर के उद्योगपति हेमराज जैन हैं।   ऐसी एकेडमी जहां यहां हर तरफ क्रिकेट ही क्रिकेट है। बॉल की रफ्तार, बैट के स्ट्रोक्स, पिच के मिजाज और रनों के गणित के साथ इनकी सुबह और शाम होती है। जयपुर के पानीपेच नेहरू नगर निवासी सैन की एकेडमी में वीकेआई स्थित उनके फैक्ट्री वर्कर्स और स्टाफ को फ्री ट्रेनिंग दी जा रही है।

इसलिए एक घंटे का स्पोर्ट्स ब्रेक भी उनकी इस पहल को अन्य फैक्ट्री ओनर्स की भी सराहना मिलती है। वर्कर्स को एक और फायदा भी है। उन्हें एक घंटे के लंच ब्रेक के अलावा एक घंटे का स्पोर्ट्स ब्रेक भी मिलता है। इसमें प्लानिंग और ग्रुप डिस्कसन होता है।   साथ ही मैच की स्ट्रेटेजी भी तय होती है। यानी सबकुछ इंटरनेशनल मैच स्टेंडर्ड्स के अनुसार। वर्कर्स कहते हैं कि खेलते हुए हमने अपनी पर्सनैिलटी में ग्रोथ देखी है। इससे हमारे आउटपुट और काम के स्ट्रेस से मुक्ति मिलती है। ये वर्कर्स कई टूर्नामेंट में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर चुके हैं।

ऐसे हुई शुरुआत उनके इस जुनून के पीछे एक दिलचस्प कहानी है। बचपन में वे अपने गांव में दोस्तों के साथ तालाब को पार कर मैदान में जाते थे। सात साल की उम्र में पेरेंट्स को बिना बताए शहर जाकर वे कई बार बैट-बॉल खरीद लाए। छोटी उम्र में ही परिवार की जिम्मेदारी उठानी पड़ी और फैमिली बिजनेस की ओर बढ़े लेकिन अपने शौक को कभी कम नहीं होने दिया।   हेमराज के लिए फैक्ट्री के बिजी शेड्यूल में से स्टाफ को क्रिकेट खेलने का मौका देना एक बेहतर समान है आउटपुट लेने के। उन्हें बचपन से ही क्रिकेट का जुनून रहा है।
Date : 17 April 2015
Newspaper : Dainik Bhaskar
Advertisement

Photogallery



Rajasthan Real Estate Expo 2015



Photographic for Bhagya Shree Project Launching

Electronic Media



Copyright © 2015 - Design by: Kamtech.in